Guru Gobind Singh ji Quotes | Guru Gobind Quotes in Hindi & Punjabi

Guru Gobind Singh ji Quotes | Guru Gobind Quotes in Hindi & Punjabi


Guru Gobind Singh in 1699 founded the khalsa which he defined as the way of life based on 5 K’s. i.e. kesh, kangha, kara, kaccheera, and kirpan. Guru Gobind Singh Ji quotes must be followed and abide by. By following the righteous path through Guru Gobind Singh quotes, we can make our lives simpler and happier. Here we have given some Guru Gobind Singh ji quotes in Punjabi,  Guru Gobind Singh ji quotes in Hindi.

“Chirian te mein baaz tudaun,
Gidran to mein sher banaun,
Sawa lakh se ek ladaun,
Tabe Gobind singh Naam kahaun.”

Guru Gobind Singh Quotes in Hindi

    सवा लाख से एक लड़ाऊं,
    चिड़ियन ते मैं बाज तुड़ाऊं,
    तबै गुरु गोबिंद सिंह नाम कहाऊं ||
-गुरु गोबिंद सिंह

"Deh Shiva var mohe ihe, Shubh karman se kabhun na tarun, Na darun arseun jab chahe larun, Nischaye kar apni jit karun."

Guru Gobind Singh Quotes in Punjabi
"ਸਾਚੁ ਕਹੋਂ ਸੁਨ ਲੇਹੁ ਸਭੈ ਜਿਨ ਪ੍ਰੇਮ ਕੀਓ ਤਿਨ ਹੀ ਪ੍ਰਭ ਪਾਇਓ ॥੯॥
Sach kahon sun leho sabai jin prem kio tin hee prabh paio."

Guru Gobind Singh Quotes in Punjabi
“ਜੋ ਹਮ ਕੋ ਪਰਮੇਸਰ ਉਚਰਿ ਹੈਂ ॥ ਤੇ ਸਭ ਨਰਕਿ ਕੁੰਡ ਮਹਿ ਪਰਿਹੈਂ ॥
Whosoever shall call me the Lord, shall fall into hell.”

Guru Gobind Singh Quotes in Hindi

सच्चे गुरु की सेवा करते हए स्थायी शांति प्राप्त होगी, जन्म और मृत्यु के कष्ट मिट जायेंगे.

अज्ञानी व्यक्ति पूरी तरह से अंधा है, वह मूल्यवान चीजों की कद्र नहीं करता है.

ईश्वर स्वयं क्षमाकर्ता है.

बिना गुरु के किसी को भगवान का नाम नहीं मिला है.

जो लोग भगवान के नाम पर ध्यान करते हैं, वे सभी शांति और सुख प्राप्त करते हैं.

अगर आप केवल भविष्य के बारे में सोचते रहेंगे तो वर्तमान भी खो देंगे.

जब आप अपने अन्दर से अहंकार मिटा देंगे तभी आपको वास्तविक शांति प्राप्त होगी.

मैं उन लोगों को पसंद करता हूँ जो सच्चाई के मार्ग पर चलते हैं.

ईश्वर ने हमें जन्म दिया है ताकि हम संसार में अच्छे काम करें और बुराई को दूर करें.

इंसान से प्रेम ही ईश्वर की सच्ची भक्ति है.

Read here to know when is Guru Gobind Singh Birthday

अच्छे कर्मों से ही आप ईश्वर को पा सकते हैं. अच्छे कर्म करने वालों की ही ईश्वर मदद करता है.

जो कोई भी मुझे भगवान कहे, वो नरक में चला जाए.

मुझे उसका सेवक मानो. और इसमें कोई संदेह मत रखो.

जब बाकी सभी तरीके विफल हो जाएं, तो हाथ में तलवार उठाना सही है.

असहायों पर अपनी तलवार चलाने के लिए उतावले मत हो, अन्यथा विधाता तुम्हारा खून बहायेगा.

उसने हेमशा अपने अनुयायियों को आराम दिया है और हर समय उनकी मदद की है.गुरु गोबिंद सिंह

हे ईश्वर मुझे आशीर्वाद दें कि मैं कभी अच्छे कर्म करने में संकोच ना करूँ.गुरु गोबिंद सिंह

आपने ब्रह्माण्ड की रचना की, आप ही सुख-दुःख के दाता हैं.

आप स्वयं ही स्वयं हैं, अपने स्वयं ही सृष्टि का सृजन किया है.गुरु गोबिंद सिंह

सत्कर्म कर्म के द्वारा, तुम्हे सच्चा गुरु मिलेगा, और उसके बाद प्रिय भगवान मिलेंगे, उनकी मधुर इच्छा से, तुम्हे उनकी दया का आशीर्वाद प्राप्त होगा.

सबसे महान सुख और स्थायी शांति तब प्राप्त होती है जब कोई अपने भीतर से स्वार्थ को समाप्त कर देता है.

दिन-रात, हमेशा ईश्वर का ध्यान करो.

हर कोई उस सच्चे गुरु की जयजयकार और प्रशंसा करे जो हमें भगवान की भक्ति के खजाने तक ले गया है.

भगवान के नाम के अलावा कोई मित्र नहीं है, भगवान के विनम्र सेवक इसी का चिंतन करते और इसी को देखते हैं.

मैं उस गुरु के लिए न्योछावर हूँ, जो भगवान के उपदेशों का पाठ करता है.

सेवक नानक भगवान के दास हैं, अपनी कृपा से, भगवान उनका सम्मान सुरक्षित रखते हैं.

स्वार्थ ही अशुभ संकल्पों को जन्म देता है.