Skip to main content

Posts

Mahalaya 2020 Date, Sarva Pitru Amavasya 2020 Date

Mahalaya 2020 Date, Sarva Pitru Amavasya 2020 Date
Amavasya Tithi Shraddha or Sarva Pitru Amavasya Shradhaalso known as Sarva Pitru Moksha Amavasya is done for those family members who died on Amavasya Tithi, Purnima Tithi and Chaturdashi Tithi. If someone is not able to perform Shraddha on all Tithis for any of the family member died then single Shraddha for all died family members can be done on this day. Doing Sankalp and offering Shraadh food to Brahmin for the Pitr's or ancestors that have passed is sufficient to please all died members in the family. Also, Sarva Pitru Amavasya or Mahalaya day can also be used to do Shraddha for any of the died family member whose death anniversary or the tithi of death is not known or forgotten and this is the reason Amavasya Shraddha is also known as Sarvapitra Moksha Amavasya. Shraddha of family members who died on Purnima Tithi is also done on Amavasya Shraddha Tithi or Mahalaya and not on Bhadrapada Purnima. Bhadrapada Purnima Shraddha fa…

Shradh Dates 2020, Pitru Paksha 2020 Dates

Shradh Dates 2020, Pitru Paksha 2020 Dates
Shradh Days or Pitru Paksha is a 15 lunar day’s period when Hindus pay homage to their ancestors, the persons who have died, through food offerings. As per South Indian Amavasyant calendar, Shraadh Days or Pitru Paksha falls in the lunar month of Bhadrapada beginning with the full moon day or day after full moon day. As per North Indian Purnimant calendar, Shradh Days or Pitru Paksha falls in the lunar month of Ashwin beginning with the full moon day in Bhadrapada or next day of full moon day.

It is just the difference of names for lunar months but both North Indians and South Indians perform Shraadh rituals on similar days. If you ask When is Shradh starting in 2020 in India, it's from Purnima Shradh which is on 1st September 2020 and the Shradh is getting over on 17th September 2020 which is Sarva Pitru Amavasya Shradh. Sarva Pitru amavasya 2020 date is on 17th September 2020. All Shradh Dates 2020 are given below:


Shradh NameShradh Date …

तूने मुझे बुलाया शेरावालिए हिंदी लिरिक्स, Tune Mujhe Bulaya Sherawaliye Lyrics in Hindi

Tune Mujhe Bulaya Sherawaliye Lyrics in Hindi, तूने मुझे बुलाया शेरावालिए हिंदी लिरिक्स सांची जोतो वाली माता
माता
तेरी जयजायकर
जयजायकर – 3

तूने मुझे बुलाया शेरा वालिए
मैं आया
मैं आया शेरा वालिए
ओ जोता वालिए पहाड़ां वालिए ओ मेहराँ वालिए
तूने मुझे बुलाया शेरा वालिए
मैं आया
मैं आया शेरा वालिए

सारा जाग है एक बंजारा – 2
सबकी मज़िल तेरा दौरा
उँचे पर्वत लंबा रास्ता – 2
पर मैं रह ना पाया शेरा वालिए
तूने मुझे बुलाया शेरा वालिए
मैं आया
मैं आया शेरा वालिए

(सूने मन मे जल गई बाती
तेरे पाठ मे मिल गये साथी) – (2)
मूह खोलू क्या तुझसे मांगूं 2
बिन माँगे सब पाया शेरा वालिए
तूने मुझे बुलाया शेरा वालिए
ओ मैं आया
मैं आया शेरा वालिए

कौन है राजा कौन भिखारी – 2
एक बराबर तेरे सारे पुजारी
तूने सबको दर्शन दे के – 2
अपने गले लगाया शेरा वालिए
तूने मुझे बुलाया शेरा वालिए
ओ ज्योतां वालिए पहाड़ां वालिए ओ मेहराँ वालिए
तूने मुझे बुलाया शेरा वालिए – 2
मैं आया
मैं आया शेरा वालिए

ओ प्रेम से बोलो
जय माता दी
ओ सारे बोलो
जय माता दी
ओ आते बोलो
जय माता दी
ओ जाते बोलो
जय माता दी
ओ कष्ट निवारे
जय माता दी
ओ पर उतरे
जय माता दी
ऐसी म…

आरती कुंजबिहारी की लिरिक्स, Aarti Kunj Bihari Ki Lyrics in Hindi

आरती कुंजबिहारी की लिरिक्स हिंदी में, Aarti Kunj Bihari Ki Lyrics in Hindi आरती कुंजबिहारी की, श्री गिरिधर कृष्णमुरारी की
गले में बैजंती माला, बजावै मुरली मधुर बाला।
श्रवण में कुण्डल झलकाला, नंद के आनंद नंदलाला।
गगन सम अंग कांति काली, राधिका चमक रही आली।
लतन में ठाढ़े बनमाली;
भ्रमर सी अलक, कस्तूरी तिलक, चंद्र सी झलक;
ललित छवि श्यामा प्यारी की॥
श्री गिरिधर कृष्णमुरारी की॥
आरती कुंजबिहारी कीगिरिधर कृष्णमुरारी की॥ x2

कनकमय मोर मुकुट बिलसै, देवता दरसन को तरसैं।
गगन सों सुमन रासि बरसै;
बजे मुरचंग, मधुर मिरदंग, ग्वालिन संग;
अतुल रति गोप कुमारी की॥
श्री गिरिधर कृष्णमुरारी की॥
आरती कुंजबिहारी की
श्री गिरिधर कृष्णमुरारी की॥ x2

जहां ते प्रकट भई गंगा, कलुष कलि हारिणि श्रीगंगा।
स्मरन ते होत मोह भंगा;
बसी सिव सीस, जटा के बीच, हरै अघ कीच;
चरन छवि श्रीबनवारी की॥
श्री गिरिधर कृष्णमुरारी की॥
आरती कुंजबिहारी की
श्री गिरिधर कृष्णमुरारी की॥ x2

चमकती उज्ज्वल तट रेनू, बज रही वृंदावन बेनू।
चहुं दिसि गोपि ग्वाल धेनू;
हंसत मृदु मंद,चांदनी चंद, कटत भव फंद;
टेर सुन दीन भिखारी की॥
श्री गिरिधर कृष्णमुरारी की॥
आरती…

जय गणेश जय गणेश जय गणेश देवा माता जाकी पार्वती पिता महादेवा, Jai Ganesh Jai Ganesh Deva Aarti Lyrics in Hindi

जय गणेश जय गणेश जय गणेश देवा माता जाकी पार्वती पिता महादेवा लिरिक्स, Jai Ganesh Jai Ganesh Deva Aarti Lyrics in Hindi

जय गणेश जय गणेश,
जय गणेश देवा ।
माता जाकी पार्वती,
पिता महादेवा ॥

एक दंत दयावंत,
चार भुजा धारी ।
माथे सिंदूर सोहे,
मूसे की सवारी ॥

जय गणेश जय गणेश,
जय गणेश देवा ।
माता जाकी पार्वती,
पिता महादेवा ॥

पान चढ़े फल चढ़े,
और चढ़े मेवा ।
लड्डुअन का भोग लगे,
संत करें सेवा ॥

जय गणेश जय गणेश,
जय गणेश देवा ।
माता जाकी पार्वती,
पिता महादेवा ॥

अंधन को आंख देत,
कोढ़िन को काया ।
बांझन को पुत्र देत,
निर्धन को माया ॥

This is Jai Ganesh Jai Ganesh Jai Ganesh Deva Lyrics in Hindi

जय गणेश जय गणेश,
जय गणेश देवा ।
माता जाकी पार्वती,
पिता महादेवा ॥

'सूर' श्याम शरण आए,
सफल कीजे सेवा ।
माता जाकी पार्वती,
पिता महादेवा ॥

जय गणेश जय गणेश,
जय गणेश देवा ।
माता जाकी पार्वती,
पिता महादेवा ॥

दीनन की लाज रखो,
शंभु सुतकारी ।
कामना को पूर्ण करो,
जाऊं बलिहारी ॥

जय गणेश जय गणेश,
जय गणेश देवा ।
माता जाकी पार्वती,
पिता महादेवा ॥
Jai Ganesh Jai Ganesh Deva Aarti Lyrics in English
Jai Ganesh Jai Ganesh,

गणपति तेरे चरणों की पग धूल जो मिल जाए लिरिक्स, Ganpati Tere Charon ki Lyrics in Hindi

गणपति तेरे चरणों की पग धूल जो मिल जाए लिरिक्स, Ganpati Tere Charon ki Lyrics in Hindi
गणपति तेरे चरणों की,
बप्पा तेरे चरणों की,
पग धूल जो मिल जाए,
सच कहता हूँ गणपति,
तकदीर सम्भल जाए,
गणपति तेरें चरणों की।।

सुनते है तेरी रेहमत,
दिन रात बरसती है,
इक बूँद जो मिल जाए,
मन की कली खिल जाए,
गणपति तेरें चरणों की।।

ये मन बड़ा चंचल है,
कैसे तेरा भजन करूँ,
जितना इसे समझाऊं,
उतना ही मचल जाए,
गणपति तेरें चरणों की।।

नजरो से गिराना ना,
चाहे जो भी सजा देना,
नजरो से जो गिर जाए,
मुश्किल ही संभल पाए,
गणपति तेरें चरणों की।।

This is Ganpati Tere Charon ki Lyrics in Hindi

बप्पा इस जीवन की,
बस एक तम्मना है,
तुम सामने हो मेरे,
मेरा दम ही निकल जाए,
गणपति तेरें चरणों की।।

गणपति तेरे चरणों की,
बप्पा तेरे चरणों की,
पग धूल जो मिल जाए,
सच कहता हूँ गणपति,
तकदीर सम्भल जाए,
गणपति तेरें चरणों की।।